Header Ads
Sports

भारत के महानतम क्रिकेटर वोनो मैनकिड को ICC हॉल ऑफ फेम में शामिल किया गया है

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने रविवार को विश्व टेस्ट चैंपियनशिप से पहले आईसीसी हॉल ऑफ फेम में 10 खिलाड़ियों को शामिल किया। इन 10 क्रिकेटरों ने टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में अद्वितीय सेवाएं दी हैं। इन 10 खिलाड़ियों के जुड़ने से इस प्रतिष्ठित सूची में शामिल होने वाले क्रिकेटरों की संख्या 103 हो जाएगी। इसमें भारत के बाएं हाथ के स्पिनर वोनो मैनकिड हैं। इसमें पांच दौरों के 10 खिलाड़ी शामिल हैं।

द्वितीय विश्व युद्ध के बाद के युग के लिए वीनो मांकड़ का चयन किया गया है। यह अवधि 1946 से 1970 तक की है। वेणु मांकड़ के अलावा इंग्लैंड के टेड डेक्सटर को भी आईसीसी हॉल ऑफ फेम में शामिल किया गया है। वेणु मांकिद की बात करें तो उन्होंने 44 टेस्ट मैच खेले। इसमें मुनकड़ ने 31.47 की औसत से 2,109 रन बनाए। उन्होंने 44 टेस्ट में 32.32 की औसत से 162 विकेट लिए। वे
वह बाएं हाथ के स्पिनर थे और उन्हें भारत के महान ऑलराउंडरों में से एक माना जाता है।

श्रीलंका के पूर्व बल्लेबाज कुमार संगकारा को ICC हॉल ऑफ फेम में शामिल किया गया है

वेणु मांकड़ ने 1952 में लॉर्ड्स में इंग्लैंड के खिलाफ 72 और 184 रन बनाए थे। उन्होंने मैच में 97 ओवर भी फेंके। वह टेस्ट क्रिकेट के शीर्ष तीन बल्लेबाजों में से एक हैं। मुनकड़ ने बाद में महान भारतीय बल्लेबाज सुनील गावस्कर को कोचिंग दी। सुनील गावस्कर पहले से ही ICC हॉल ऑफ फेम लिस्ट में शामिल हैं।

हॉल ऑफ फेम में शामिल किए गए पांच पदों में प्रारंभिक क्रिकेट युग (1918 से पहले), युद्ध के बाद के युग (1918-1945), युद्ध के बाद के युग (1946-1970) और एकदिवसीय युग में दो खिलाड़ी शामिल हैं। 1971 -१९९५ और आधुनिक युग (१९९६-२०१६)। गुरुवार को क्रिकेट बोर्ड ने आईसीसी हॉल ऑफ फेम के विशेष संस्करण की घोषणा की।

सम्बंधित खबर

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button