निवेश योजना

एक सफल स्टॉक ट्रेडर बनने के लिए 6 ट्रेडिंग टिप्स

एक सफल स्टॉक ट्रेडर बनने के लिए 6 ट्रेडिंग टिप्स

Editors Take: एक सफल ट्रेडर बनने के लिए क्या करें? जानिए अनिल सिंघवी से

एक सफल ट्रेडर बनने के लिए क्या करें? नए ट्रेडर्स को क्यों जरूर सीखना चाहिए रिस्क मैनेजमेंट? ओवर नाइट पोजीशन में रिस्क मैनेजमेंट करना कितना अहम? ट्रेडर्स जरूर देखिए अनिल सिंघवी का ये वीडियो.

आपभी शेयर बाजार के बन सकते हैं माहिर खिलाड़ी; ट्रेडिंग के अपनाएं ये 5 नियम, होगी मोटी कमाई

शेयर बाजार के कुछ नियम हैं, जिसे अपनाकर आप भी निवेश के बड़े खिलाड़ी एक सफल स्टॉक ट्रेडर बनने के लिए 6 ट्रेडिंग टिप्स बन सकते हैं.

आपभी शेयर बाजार के बन सकते हैं माहिर खिलाड़ी; ट्रेडिंग के अपनाएं ये 5 नियम, होगी मोटी कमाई

How To Become A Successful Traders Of Stock Market: शेयर बाजार में अगर ट्रेडिंग करना चाहते हैं तो इसमें एंट्री का रास्ता आसान है. वहीं अगर सोच-समझकर और समझदारी से योजना बनाई जाए तो शेयर बाजार में बिना किसी बाधा के एक सुसंगत और स्वतंत्र बिजनेस किया जा सकता है. हालांकि बाजार में ट्रेड वाले सभी के लिए जरूरी है कि उन्हें ट्रेडर और प्रोफेशनल ट्रेडर के बीच के गैप को कम करना चाहिए. अगर आप भी बाजार में प्रभावी रूप से कारोबार करना चाहते हैं तो तीन मुख्य बिंदुओं मसलन एंट्री, एग्जिट और स्टॉप लॉस का बेहद महत्व है. इसके साथ ही आपकी पोजिशन का साइज क्या है, यह भी बेहद अहम है. आपने जो ट्रेड की योजना बनाई है, उसका पालन करने में आप कितने सक्षम हैं और आपके अंतर-संचालन की क्षमता आपको बाजार में प्रभावी तरीके से ट्रेड करने में मदद कर सकती है. जिससे आप अपने पोर्टफोलियो का मैनेजमेंट सफलता से कर सकते हैं. जानते हैं शेयर बाजार के सफल ट्रेडर बनने के लिए किन बातों का ध्यान रखना जरूरी है.

शेयर बाजार में ट्रेडिंग एक तरह से बिजनेस है, और बिना सटीक प्लान के कोई भी बिजनेस सफल नहीं हो सकता है. सिर्फ कुछ किताबें पढ़कर ट्रेडिंग में आ जाना, सिर्फ ब्रोकरेज अकाउंट खोलकर और चार्टिंग प्रोग्राम खरीदकर शेयर बाजार में पैसा लगा देने से ही सफलता नहीं मिल सकती. इससे नुकसान का डर ज्यादा होता है.

Post office Whole Life Assurance Plan: पोस्ट ऑफिस के इस प्लान में रोज बचाएं 50 रुपये, मैच्‍योरिटी पर मिलेगा 34 लाख

सटीक ट्रेड प्लान के लिए आपका सही स्ट्रैटेजी पर काम करना जरूरी है. इसके लिए आपको यह तय करना होगा कि आप कितना रिस्क लेने का क्षमता रखते हैं, आपके निवेश का लक्ष्य क्या है, आपका कैपिटल अलोकेशन क्या है, आप शॉर्ट टर्म या लांग टर्म के लिए निवेश करना चाहते हैं. कब किसी निवेश में एंट्री करना है, कब निकलना है और स्टॉप लॉस क्या हो, इन बातों की समझ जरूरी है. इन बातों की समझ नहीं होगी तो आप मुसीबत में आ सकते हैं.

2. ट्रेड को लेकर न रहें कनफ्यूज

जब भी आप ट्रेडिंग का प्लान कर रहे हों, आपका माइंड क्लीयर होना जरूरी है. बाजार में कई बार अफवाहें तेज उड़ती हैं, अगर आपका ध्यान उन पर गया तो प्लान बिगड़ सकता है. इसलिए निगेटिव खबरों को लेकर खुद पर दबाव न बनाएं. अपने निवेश को लेकर इमोशनल न हों. सही निवेश को चुनें और उसमें बिना डर के पैसे लगाएं. दूसरों को डरा हुआ देखकर आप अपने द्वारा बनाए गए निवेश के प्लान से दूर न जाएं. ऐसा करके आप अपना बहुत सा मुनाफा गंवा सकते हैं.

आपके निवेश का आकार क्या है, यह बहुत महत्वपूर्ण है. इससे तय होता है कि आप कितनी क्वांटिटी का शेयर खरीद या बेच सकते हैं. आप कितने कैपिटल के साथ बाजार में सहज हैं, कितना रिस्क ले सकते हैं या उतार चढ़ाव झेल सकते हैं, इससे आपका ट्रेड प्लान सही से बाजार में लागू होता है. एक बार जब आप बाजार में निवेश करते हें, समय समय एक सफल स्टॉक ट्रेडर बनने के लिए 6 ट्रेडिंग टिप्स पर अपने निवेश का आंकलन, अपने पोजिशन साइज का रिव्यू और बैलेंस को बनाए रखना समान रूप से जरूरी है.

जब आपका ट्रेड सही दिशा में बढ़ रहा हो, तो कुछ बेहतर स्ट्रैटेजी के साथ काम करना जरूरी हो जाता है. मसलन कब निवेश में कौन सा शेयर बढ़ाना है या कौन सा एक सफल स्टॉक ट्रेडर बनने के लिए 6 ट्रेडिंग टिप्स घटाना है. कहां स्टॉप लॉस लगाकर ट्रेड करना है. इस तरह से आप बाजार के जोखिम को कम कर सकते हैं.

4. सीमित कर सकते हैं अपना नुकसान

शब्द “स्टॉप लॉस” का हाल के दिनों में बहुत ज्यादा इस्तेमाल किया जा रहा है. यह सही भी है क्योंकि स्टॉप लॉस एक जोखिम की पूर्व-निर्धारित राशि है जो एक ट्रेडर हर ट्रेड के साथ सहने को तैयार होता है. यह आपके नुकसान के आकार को सीमित कर देता है. भले ही आपका ट्रेड लीडिंग पोजिशन में हो, स्टॉप लॉस को अनदेखा न करें, नहीं तो आपको ज्यादा नुकसान भी उठना पड़ सकता है.

5. अति-आत्मविश्वास दे सकता है नुकसान

ट्रेडिंग में सफलता आपके आत्मविश्वास को बढ़ाता है, लेकिन आत्मविश्वास और अति-आत्मविश्वास के बीच एक अंतर है, जिसे जरूर समझें. अपने ट्रेड प्लान पर टिकें रहें और पहले से बनाई गई योजना के हिसाब से ही शेयर बाजार में चलें. भावनाओं में आकर ट्रेडिंग न करें. मसलन बहुत ज्यादा फायदे की स्थिति में भी बिना सोचे अपना अलोकेशन बढ़ाते जाएं.

एक सफल स्टॉक ट्रेडर बनने के लिए 6 ट्रेडिंग टिप्स

एक महत्वपूर्ण स्टॉक ट्रेडिंग टिप ये है कि भी आवेग में आकर ट्रेड नहीं करना चाहिए. कई ट्रेडर्स FOMO (Fear of missing out) या FOLO (Fear of losing out) के जाल में पड़ जाते हैं.

Written by Web Desk Team | Published :September 9, 2022 , 6:43 am IST

इंट्रोडक्शन
यदि आप एक नौसिखिये हैं जो शेयर बाजार में निवेश या ट्रेड शुरू करना चाहते एक सफल स्टॉक ट्रेडर बनने के लिए 6 ट्रेडिंग टिप्स हैं, तो ध्यान रखें कि स्टॉक खरीदना और बेचना मुश्किल नहीं है. सही स्टॉक का चयन करना जो शेयर बाजार में लगातार बेहतर प्रदर्शन कर सकता है, वह चुनौतीपूर्ण है. इसलिए, यदि आप शेयर बाजार में ट्रेडिंग शुरू करना चाहते हैं, तो शेयर बाजार पर अच्छी पकड़ होना जरूरी है. इसे सुविधाजनक बनाने के लिए आप ऑनलाइन ट्रेडिंग शुरू कर सकते हैं, जो उन निवेशकों/ट्रेडर्स के बीच लोकप्रिय हो गया है जो अपने दम पर ट्रेड करना चाहते हैं.

ऑनलाइन स्टॉक ट्रेडिंग टिप्स
आपकी सफल वित्तीय यात्रा में सहायता के लिए यहां कुछ स्टॉक ट्रेडिंग टिप्स दी गई हैं-

समझें कि आप निवेश/ट्रेड क्यों करना चाहते हैं और गोल सेट करे: बेशक, पैसा कमाना अंतिम लक्ष्य है, लेकिन इसे निवेश लक्ष्य के साथ जोड़ना सफलता सुनिश्चित करता है. लक्ष्य के बिना व्यक्ति भटका हुआ महसूस करता है. इसलिए महत्वपूर्ण स्टॉक ट्रेडिंग टिप्स में से एक लक्ष्य निर्धारण भी है. किसी फाइनेंशियल ऑब्जेक्टिव को शॉर्ट, मीडियम या लॉन्ग टर्म के रूप में वर्णित किया जा सकता है. यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपको इसे प्राप्त करने में कितना समय लगना है. शॉर्ट टर्म गोल वे होते हैं जिन्हें आप एक साल में पूरा करना चाहते हैं, मीडियम टर्म गोल पांच सालों में और लॉन्ग टर्म गोल पांच सालों से अधिक में प्राप्त करना चाहते हैं.
जब आप अपने लक्ष्यों को लिख रहे हों, तो सुनिश्चित करें कि आपने उन्हें एक समय सीमा दी है. ऐसा इसलिए है क्योंकि गोल प्रोजेक्टेड कॉस्ट की गणना के लिए आपको भविष्य में इन तारीखों की आवश्यकता होगी. ये आपको मोटिवेटेट रहने और आपको ट्रैक पर रखने में मदद कर सकता है. वित्तीय सफलता के लिए वित्तीय लक्ष्य निर्धारित करना महत्वपूर्ण है.

अपनी जोखिम लेने की क्षमता (Risk Appetite) का निर्धारण करें और स्टॉप–लॉस (एक निवेशक द्वारा अपने नुकसान को सीमित करने के लिए उपयोग की जाने वाली विधि) का उपयोग करें: ट्रेडिंग करते समय यह महत्वपूर्ण है कि आप अपनी जोखिम उठाने की क्षमता का आकलन करें. एक बार ऐसा करने के बाद सुनिश्चित करें कि आप स्टॉप-लॉस के साथ ट्रेड करते हैं. कई ट्रेडर और निवेशक अनश्योर होते हैं कि स्टॉक, वायदा और अन्य उपकरणों में अपनी ओपन होल्डिंग को कैसे सुरक्षित रखा जाए. अच्छी बात ये है कि, बुल और बियर दोनों बाजारों में, डाउनसाइड को कम करने के लिए स्टॉप-लॉस मेथड का उपयोग किया जा सकता है. स्टॉप-लॉस ऑर्डर एक पर्चेज या सेल ऑर्डर है जो स्टॉक के एक स्पेसिफाइड प्राइस पर हिट होने के बाद एग्जीक्यूट हो जाता है. इसका उपयोग ट्रेडिंग पोजीशन पर संभावित नुकसान को प्रतिबंधित करने के लिए किया जाता है. इसलिए, स्टॉप-लॉस सेट करना सबसे महत्वपूर्ण ऑनलाइन स्टॉक ट्रेडिंग टिप्स में से एक है.

ट्रेडिंग/निवेश में टेम्परामेंट जरूरी, इसे ध्यान में रखें: भावनाएं ट्रेडिंग प्रोसेस का एक सामान्य अंग हैं. यहां तक कि अगर आप अपने ट्रेंड्स को सावधानीपूर्वक तैयार करते हैं, तो भी बाजार हमेशा उम्मीदों पर खरा नहीं उतरता है. वास्तव में, आपके लक्ष्यों के अनुसार कार्य करने की तुलना में बाजार आपकी अपेक्षाओं से कम होने की ज्यादा संभावना है. शेयर बाजार के बेतहाशा उतार-चढ़ाव के कारण आप अपने पोर्टफोलियो में एडजस्टमेंट करने के लिए ललचा सकते हैं. हालांकि, यदि आप इस सत्य को स्वीकार करते हैं और इसके समाधान के लिए आवश्यक उपाय करते हैं, तो आप इमोशन्स के प्रभाव को कम करने में सक्षम होंगे. इमोशनल ट्रेडिंग में कई तरह के नुकसान होते हैं और इसके परिणामस्वरूप महत्वपूर्ण वित्तीय नुकसान हो सकता है. इसलिए, अपनी इमोशन्स को कंट्रोल में रखने के लिए किसी ट्रेड में प्रवेश करने से पहले एक रणनीति विकसित करना महत्वपूर्ण है. याद रखें, एक सफल व्यापारी बनने के लिए हमेशा तार्किक रूप से सोचना होगा. अपने जोखिमों की गणना करें और अपनी भावनाओं को अपने निर्णय के रास्ते में न आने दें.

स्टॉक मार्केट नॉलेज प्राप्त करें: मार्केट में ट्रेड और निवेश के लिए बहुत सारे अभ्यास और बाजार की समझ की आवश्यकता होती है. हालांकि, यह समझें कि शेयर बाजार में निवेश/ट्रेड करना कोई रॉकेट साइंस नहीं है, लेकिन इसके लिए समय और धैर्य की आवश्यकता होती है. डीमैट खाते, शेयरों की खरीद और बिक्री कैसे करें, म्यूचुअल फंड, स्टॉप लॉस, बाजार पूंजीकरण आदि जैसे कई आवश्यक विषयों के बारे में पढ़कर शुरुआत करें एक बार जब आप इन फंडामेंटल कॉन्सेप्ट को समझ लेते हैं, तो बैलेंस शीट, एनुअल रिपोर्ट आदि को पढ़ना सीखना शुरू कर दें. धीरे-धीरे आपको विषय की बेहतर समझ होगी. इससे आपको एक ठोस शुरुआत मिलनी चाहिए.

अत्यधिक ट्रेडिंग से बचें: एक महत्वपूर्ण स्टॉक ट्रेडिंग टिप ये है कि भी आवेग में आकर ट्रेड नहीं करना चाहिए. कई ट्रेडर्स FOMO (Fear of missing out) या FOLO (Fear of losing out) के जाल में पड़ जाते हैं. इसलिए यह आवश्यक है कि आप ट्रेड से पहले एक योजना बना लें. यदि आप ठोस आइडियाज के साथ ट्रेड करते हैं और आवेग में ट्रेड करने से बचते हैं तो आप अपने मुनाफे की संभावनाओं में काफी सुधार करेंगे.

डायवर्सिफाई: डायवर्सिफिकेशन विभिन्न प्रकार के एसेट क्लास में निवेश/ट्रेड की प्रैक्टिस है. डायवर्सिफिकेशन का लक्ष्य आपको एक ही प्रकार के जोखिम के संपर्क में आने से बचाना है. निवेशक और ट्रेडर लाभ को अधिकतम करने के लिए इस विधि का उपयोग करते हैं. डायवर्सिफिकेशन का मुख्य लक्ष्य रिस्क-एडजस्टेड रिटर्न को बूस्ट देना है, जो उस जोखिम की मात्रा को संदर्भित करता है जिसे आपको लाभ कमाने के लिए लेना चाहिए. एक डायवर्सिफिकेशन प्लान का रहस्य यह सुनिश्चित करना है कि आपके एसेट एक दूसरे से कनेक्टेड नहीं है. यह न केवल एसेट क्लास के बीच, बल्कि एसेट क्लास के भीतर भी डायवर्सिफिकेशन लाने पर जोर देता है.

शेयर बाजार से कौन कमाता है सबसे ज्यादा पैसा, इन 5 को आप जानते हैं?

अमित कुमार दुबे

हर कोई शेयर बाजार से पैसा बनाना चाहता है. पिछले कुछ महीनों में शेयर बाजार के प्रति रिटेल निवेशकों का झुकाव बढ़ा है. लेकिन अधिकतर लोग शेयर बाजार से पैसे नहीं कमा पाते हैं. कम अनुभव और बाजार की चाल को सही से नहीं समझ पाने के कारण स्टॉक मार्केट में नाकामी मिलती है. लेकिन कई ऐसे लोग हैं, जो बाजार की नब्ज को समझते हैं और आज देश से बड़े निवेशक माने जाते हैं. आज हम आपको 5 ऐसी शख्सियत के बारे में बताने जा रहे हैं, जो हर शेयर बाजार से करोड़ों कमाते हैं. एक तरह से ये शेयर बाजार के धनकुबेर हैं. (Photo: Getty Images)

बिग बुल राकेश झुनझुनवाला

1. राकेश झुनझुनवाला: राकेश झुनझुनवाला (Rakesh Jhunjhunwala) को शेयर बाजार (Stock Maket) में निवेश का 40 साल से ज्यादा का अनुभव है. वे जिस शेयर में हाथ डालते हैं, वो दौड़ने लगता है. निवेशक उनकी टिप्स को ऐसे फोलो करते हैं. झुनझुनवाला को भारतीय शेयर बाजार का वॉरेन बफे भी कहा जाता है. उन्होंने 18 साल की उम्र में ही शेयर बाजार में कदम रखा. (Photo: Getty Images)

 5,000 रुपये से की थी निवेश की शुरुआत

झुनझुनवाला ने अपने करियर की शुरुआत महज 5,000 रुपये से की थी. दिग्गज निवेशक ने साल 1985 में दलाल स्ट्रीट (Dalal Street) का सफर शुरू किया था, तब BSE सेंसेक्स 150 अंक के स्तर पर था. राकेश झुनझुनवाला के मुताबिक 1988 में उनकी नेट वर्थ एक करोड़ रुपये थी, जो 1993 में बढ़कर 200 करोड़ हो गई. फोर्ब्स के मुताबिक आज राकेश झुनझुनवाला (Rakesh Jhunjhunwala net worth) के पास 36,000 करोड़ रुपये से ज्यादा की दौलत है. (Photo: Getty Images)

राधाकिशन दमानी

2. राधाकिशन दमानी: राधाकिशन दमानी (Radhakishan Damani) लाइमलाइट से दूर रहते हैं. लेकिन बड़े निवेशक के तौर पर गिने जाते हैं. दमानी एक सफल निवेशक के साथ-साथ सफल बिजनसमैन भी हैं. डी-मार्ट नाम के रीटेल चेन के मालिक भी राधाकिशन दमानी हैं. भारत के रिटेल किंग कहे जाने वाले दमानी दिग्गज निवेशक राकेश झुनझुनवाला के भी गुरु हैं. शेयर बाजार में उनकी टिप्स को फोलो किया जाता है. राधाकिशन दमानी भारत के टॉप 10 अमीरों की लिस्ट में शामिल हैं. हाल ही में दमानी ने दक्षिण मुंबई के मलाबार हिल्स इलाके में 1,001 करोड़ रुपये का बंगला खरीदा था.

राकेश झुनझुनवाला के भी गुरु हैं राधाकिशन दमानी

राधाकिशन दमानी ने शेयर बाजार में अपनी शुरुआत 1980 के दशक में की थी. उन्होंने 5000 रुपये से निवेश की शुरुआत की थी. राधाकिशन दमानी वह हमेशा सफेद कपड़े पहनते हैं और शेयर बाजार के दिग्गज निवेशकों के बीच 'मिस्टर व्‍हाइट एंड व्‍हाइट' के नाम से मशहूर हैं. उनकी सलाह है कि किसी भी शेयर में छोटी अवधि के लिए पैसा लगाने से बचें. एक सेक्टर के बजाए हर सेक्टर के अच्छे शेयरों पर नजर रखें. ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स के मुताबिक राधाकिशन दमानी की दौलत 19.3 बिलियन डॉलर यानी 1.42 एक सफल स्टॉक ट्रेडर बनने के लिए 6 ट्रेडिंग टिप्स लाख करोड़ रुपये है. संपत्ति के मामले में दमानी दुनिया के अमीरों की सूची में 97वें स्थान पर आ गए हैं. दमानी ने इंडिया सीमेंट, वीएसटी इंडस्ट्रीज, ब्लूडार्ट, सिनेप्लेक्स कंपनियां और कुछ तंबाकू कंपनियों में निवेश किए हैं. राधाकिशन दमानी के पिता एक शेयर ब्रोकर थे.

डॉली खन्ना

3. डॉली खन्ना : पुरुषों के वर्चस्व वाले भारतीय शेयर बाजार (Share Market) में एक महिला निवेशक ने भी अपना लोहा मनवाया है. चेन्नई की दिग्गज निवेशक डॉली खन्ना (Dolly Khanna) ने शेयरों से करोड़ों की कमाई कर यह उपलब्धि हासिल की है. डॉली ने अपने पति राजीव खन्ना (Rajiv Khanna) के साथ मिलकर शेयरों में निवेश से मोटी कमाई की है. डॉली खन्ना चमक-दमक से दूर रहती हैं.

इन शेयरों में डॉली खन्ना का निवेश

डॉली खन्ना के पोर्टफोलियो का प्रबंधन उनके पति राजीव खन्ना करते हैं. डॉली खन्ना के पास कई एक सफल स्टॉक ट्रेडर बनने के लिए 6 ट्रेडिंग टिप्स कंपनियों में बड़ी हिस्सेदारी है. मुथूट कैपिटल, टाटा मेटालिक्स, रेन इंडस्ट्रीज, बटरफ्लाइ गांधीमठी अप्लायंसेज, आरएसडब्ल्यूएम, श्रीकलाहस्ती पाइप्स. Polyplex Corporation, तिरुमला केमिकल्स, रेडिको खेतान (Radico Khaitan) और जेके पेपर (JK Paper) में निवेश हैं. डॉली खन्ना की फिलहाल 357.4 करोड़ रुपये की नेटवर्थ है. राजीव खन्ना का कहना है कि शेयर बाजार में सफलता के लिए सिर्फ मेरिट काफी नहीं है. थोड़ा किस्मत का भी साथ होना चाहिए.

रामदेव अग्रवाल (Raamdeo Agrawal)

4. रामदेव अग्रवाल (Raamdeo Agrawal): दिग्गज निवेशक और मोतीलाल ओसवाल फाइनेंस सर्विसेज लिमिटेड (Motilal Oswal Financial Services) के प्रबंध निदेशक रामदेव अग्रवाल दलाल स्ट्रीट के मंझे हुए खिलाड़ी हैं. साल 1983 में सीए के पढ़ाई पूरी करने के बाद रामदेव अग्रवाल को कई नौकरियों के कई ऑफर आए. लेकिन उन्होंने शेयर बाजार की राह चुनी. उन्होंने 25 साल पहले 4-5 लाख रुपये से निवेश की शुरुआत की थी. रामदेव का कहना है कि उसी कंपनी में निवेश करें, जिसका बिजनेस अच्छा हो और उस बिजनेस को चलाने वाला मैनेजमेंट अच्छा हो. उनके पोर्टफोलियो में Maharashtra Scooters, Bharat Wire Ropes लिमिटेड और Motilal Oswal Financial Services लिमिटेड हैं.

अनिल कुमार गोयल

5. अनिल कुमार गोयल : इस दिग्गज निवेशक को स्मॉलकैप शेयरों में खास दिलचस्पी है. क्वालिटी स्मॉलकैप शेयरों में निवेश कर मोटी कमाई करने में ये माहिर हैं. गोयल के पास बीएसई स्मॉलकैप इंडेक्स की कम से कम 30 कंपनियों में अच्छी-खासी हिस्सेदारी है. अनिल कुमार गोयल (Anil Kumar Goel) का जेबीएम ऑटो, श्रीकलाहस्ती पाइप्स, तिरुमला केमिकल्स, कॉस्मो फिल्म्स, द्वारिकेष शुगर इंडस्ट्रीज, ओपी चेन्स, सांघ्वी मूवर्स और वर्धमान होल्डिंग्स में बड़ा निवेश किया है. गोयल की कुल नेटवर्थ (Anil Kumar Goel Net Worth) 1,330.9 करोड़ रुपये की है.

रेटिंग: 4.95
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 358
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *