करेंसी मार्किट

भारत में क्रिप्टो करेंसी खरीदें

भारत में क्रिप्टो करेंसी खरीदें
WazirX ने एक टैप कर क्रिप्टो ट्रांजेक्शन करने के लिए QuickBuy लॉन्च किया है।

Cryptocurrency की भारत में आज की कीमत

क्रिप्टो करेंसी ऑनलाइन भुगतान का एक तरीका है जिसे वस्तु और सेवाओं के बदले दिया जाता है. दरअसल क्रिप्टो करेंसी नेटवर्क आधारित डिजिटल मुद्रा है. कुछ कंपनियों ने अपनी क्रिप्टो करेंसी भी जारी की है. जिसे टोकन्स कहते हैं. इन टोकन्स का प्रयोग आमतौर पर कंपनी के ही गुड्स और सर्विसेस खरीदने के लिए होता है.

वास्तविक मुद्रा और क्रिप्टो करेंसी में बेसिक फर्क यही है कि आप जिस पैसे को बाजार में खर्च करते हैं उसे देश का केंद्रीय बैंक जारी करता है. जबकि क्रिप्टो करेंसी को कोई व्यक्ति या कंपनी जारी कर सकती है.

डिसेंट्रलाइज्ड तकनीक क्या है?

डिसेंट्रलाइज्ड तकनीक रिसोर्स का एलोकेशन है. आसान भाषा में समझें तो ये कहा जा सकता है कि किसी वस्तु या रिसोर्स का नियंत्रण किसी एक व्यक्ति, संस्था या सेंट्रल टीम के पास नहीं होता है बल्कि उसका विकेंद्रीकरण यानी डिसेंट्रलाइजेशन होता है. क्रिप्टो करेंसी में जिस तकनीक ब्लॉकचेन का इस्तेमाल किया जाता है, उससे उस क्रिप्टो करेंसी पर किसी एक व्यक्ति या संस्था का नियंत्रण नहीं रहता, बल्कि डिसेंट्रलाइज्ड टेक्नोलॉजी के जरिये उसे बहुत से कम्प्यूटर के जरिये अलग-अलग लोकेशन से मैनेज किया जाता है और ट्रांजेक्शन रिकॉर्ड किया जाता है. यह तकनीक जितनी मजबूत होगी वो क्रिप्टो करेंसी उतनी ही सिक्योर होगी.

क्रिप्टोकरेंसी FAQs

CryptoCurrency या डिजिटल करेंसी एक वर्चुअल करेंसी है. इसका यूज भी डिजिटल लेन-देन के लिए किया जा सकता है. इसे आप ना देख सकते हैं ना ही छू सकते हैं. इसका पूरा बिजनेस ऑनलाइन ही होता है. बाकी देशों की करेंसी की तरह इसे कोई कंट्रोल नहीं करता है. इसे नेटवर्क के जरिए ऑनलाइन ऑपरेट किया जाता है. इस वजह से इसकी कीमत में लगातार उतार-चढ़ाव देखा जा सकता है.

Bitcoin दुनिया की सबसे पुरानी और पॉपुलर क्रिप्टोकरेंसी है. इसे साल 2008 में बनाया गया था. इसे ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर के तौर पर साल 2009 में रिलीज किया गया था. Bitcoin बनाने वाले व्यक्ति या ग्रुप को Satoshi Nakamoto नाम से जाना जाता है. इसे किसी ने देखा नहीं है. इसे बनाने की वजह साफ थी. इसको लेकर कहा गया था ये एक ऐसी डिजिटल करेंसी है जिस पर कोई भी सरकार कंट्रोल नहीं कर सकती है.

CryptoCurrency को भारत में क्रिप्टो एक्सचेंज प्लेटफॉर्म के जरिए खरीदा जा सकता है. आप इन प्लेटफॉर्म पर जाकर अपना अकाउंट बना सकते हैं. उसके बाद बैंक से प्लेटफॉर्म पर पैसे ऐड करके आप किसी क्रिप्टोकरेंसी को खरीद सकते हैं. भारत में WazirX और CoinDCX जैसे क्रिप्टो एक्सचेंज प्लेटफॉर्म काफी पॉपुलर है.

CryptoCurrency पर भारत में काफी ज्यादा टैक्स लगा दिया गया है. सरकार ने इसके लेनदेन पर 30 परसेंट का टैक्स लगाया है. लेकिन, वित्त मंत्री ने साफ किया है देश में क्रिप्टोकरेंसी को फिलहाल लीगल नहीं किया गया है.

इसको लेकर कोई फिक्स फॉर्मूला नहीं है. कई क्रिप्टोकरेंसी कभी-कभी अच्छा फायदा भी करवा देती है लेकिन, कभी-कभी इन्वेस्टर्स का नुकसान भारत में क्रिप्टो करेंसी खरीदें भी काफी ज्यादा हो जाता है. आप इसमें बड़ी और पॉपुलर क्रिप्टोकरेंसी जैसे Bitcoin या Ether में इन्वेस्ट करके सेफ रह सकते हैं. लेकिन, इसके लिए आपको क्रिप्टो मार्केट पर भी ध्यान देना होगा. हालांकि, आपको बता दें कि क्रिप्टोकरेंसी को निवेश के मकसद से नहीं बनाया गया था.

बिटकॉइन की कीमत कुछ समय पहले 50 लाख से भी ज्यादा हो गई थी. लेकिन, जब इसे लॉन्च किया गया था तब इसकी कीमत जीरो थी. लेकिन, कुछ ही समय के बाद इसकी कीमत 6 पैसे हो गई थी. अभी इसकी कीमत 31 लाख रुपये करीब है.

भारत में कैसे और कहां से खरीदें क्रिप्टोकरेंसी, यहां पाएं सारी जानकारी

भारत में करीब 55 लाख लोग क्रिप्टोकरेंसी में निवेश किया है और यह संख्या हर दिन बढ़ती जा रही है

हालिया रिपोर्टों के मुताबिक कोरोना लॉकडाउन के दौरान भारत में लोगों ने जमकर क्रिप्टोकरेंसी की ट्रेडिंग की। यह सच भी है कि क्रिप्टोकरेंसी अब लोगों के लिए नया कॉन्सेप्ट नहीं रह गया है। इसमें निवेश के लिए लोगों की दिलचस्पी अपने उफान पर है।

इसके अलावा, RBI की तरफ से २०१८ में लगाए क्रिप्टो बैन के हटने के बाद, अब ट्रेडर्स भी क्रिप्टोकरेंसी मार्केट में पार्टिसिपेट करने से हिचक नहीं रहे हैं।

फिलहाल क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करने वाले भारतीयों की संख्या ५५ लाख के करीब है और यह हर दिन बढ़ती जा रही है।

संबंधित खबरें

2 Stocks to Trade : एक दिन में 30% रिटर्न देगा ये शेयर

Sensex पहली बार 63,000 अंक के पार, पिछले सात दिन में ₹7.5 लाख करोड़ बढ़ी निवेशकों की संपत्ति

Inofsys Share Price: जानें कब निवेश से होगा मुनाफा

देश के पूर्व वित्त सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने भी एक हालिया वेबिनार में इस बात को स्वीकार किया। इसलिए अब क्रिप्टो एसेट्स को एक कमोडीटिज के रूप में रेग्युलेट करने की चर्चा भी शुरू हो गई है।

अगर आपके अंदर भी इस तेजी से बढ़ते क्रिप्टो समुदाय का हिस्सा बनने की इच्छा हो रही है, तो आपको अभी कुछ क्रिप्टोकरेंसी खरीदकर इसकी शुरुआत करनी चाहिए।

अपनी मनपसंद क्रिप्टोकरेंसी को कहां से और कैसे खरीदें?

क्रिप्टोकरेंसी खरीदने के लिए भारत में वजीरएक्स (WazirX) एक आसान और सहज तरीका ऑफर करता है, जहां आपको कई सारी क्रिप्टोकरेंसी को चुनने का विकल्प मिलता है।

सबसे पहले, आपको इस प्लेटफॉर्म पर अपना एक अकाउंट खोलना होगा। इसके लिए आपको एक वैलिड ID प्रूफ की जरूरत होगी, जिसके जरिए अनिवार्य KYC की प्रक्रिया पूरी की जाएगी। साथ ही लेनदेन के लिए आपको अपने बैंक खाते कि जानकारी भी देनी होगी।

आपकी दी गई जानकारियों को सत्यापित करने में कुछ घंटे लगते हैं, जिसके बाद आपका अकाउंट खुल जाता है।

आप अपने बैंक खाते में जमा राशि का इस्तेमाल कर सीधे कोई भी अपनी पसंद की क्रिप्टोकरेंसी खरीद सकते हैं।

आपको WazirX से क्यों क्रिप्टोकरेंसी खरीदनी चाहिए?

बिनांस के हाथों अधिग्रहण

नवंबर २०१९ में Binance (बिनांस) द्वारा WazirX का अधिग्रहण किया गया। बिनांस दुनिया की सबरसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज है।

इस डील ने WazirX को क्रिप्टोकरेंसी दुनिया का इंटरनेशनल एक्सचेंज बना दिया। इसका मतलब है कि अब पूरी दुनिया के क्रिप्टो ट्रेडर और निवेशक WazirX के डिजिटल एसेट प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल कर सकते हैं।

अधिकतम सुरक्षा

WazirX भारत का सबसे सुरक्षित एक्सचेंज है। वह भारत में सुरक्षित ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म मुहैया कराने के लिए नियमित सिक्योरिटी ऑडिट में निवेश कर रहा है।

ट्रांजैक्शन की रफ्तार

WazirX का सिस्टम लाखों की संख्या में पैसों से क्रिप्टो, क्रिप्टो से पैसों और क्रिप्टो से क्रिप्टो ट्रांजैक्शन को संभाल सकता है। उनका इंफ्रास्ट्रक्चर बढ़ती डिमांड को पूरा करने के लिए कुछ ही सेकेंड में अपनी क्षमता को बढ़ाने में सक्षम है।

यूजर-फ्रेंडली डिजाइन

WazirX प्लेटफॉर्म पर क्रिप्टोकरेंसी की ट्रेंडिग स्पीड बहुत तेज है, जो उपभोक्ताओं को अच्छा अनुभव देती है। इसके क्रिएटर्स पहले ही ऐसी टेक्नोलॉजी विकसित कर चुके हैं, जिसे दुनिया भर में लाखों लोग इस्तेमाल कर रहे हैं। इस अनुभव ने WazirX को अच्छे फीचरों से लैस और कुशल क्रिप्टो एक्सचेंज बनाने में मदद की।

ब्लॉकचेन एक्सपर्ट की टीम

WazirX के साथ एक विशुद्ध ट्रेडर्स और जुनूनी ब्लॉकचेन एक्सपर्ट की टीम है। भारत में क्रिप्टो करेंसी खरीदें वह इस चीज को अच्छी तरीके से समझते हैं कि क्रिप्टो को किस चीज की जरूरत है। वजीरएक्स पर शुरुआत से ही शानदार ग्राफ, मोबाइल ऐप जैसे फीचर रहे हैं।

5 प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध

WazirX सभी प्लेटफॉर्म पर एक शानदार और सहज क्रिप्टो ट्रेडिंग अनुभव देता है। यह वेब, एंड्रॉयड, iOS,विंडोज और मैक ऐप प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध है।

WazirX Token (WRX) पाने का मौका

WazirX Token या WRX, वजीरएक्स की अपनी क्रिप्टोकरेंसी है। WRX खरीदकर या क्रिप्टो ट्रेडिंग करने पर आप WRX में रिवॉर्ड पा सकते हैं।

इसके अलावा भविष्य में फीस में छूट, मार्जिन फीस चुकाने या दूसरे कार्यों में भी WRX उपयोगी साबित हो सकता है।

एक शानदार रेफरल प्रोग्राम

WazirX के ट्रेड कमीशन प्रोग्राम के जरिए आप जितनी चाहे, उतनी कमाई कर सकते हैं। आप अपने दोस्तों को रेफर कर सकते हैं और उनके हर ट्रेड पर ५०% कमीशन हासिल कर सकते हैं। सभी कमीशन २४ घंटे के अंदर आपके खाते में क्रेडिट हो जाएगी।

खैर अब आपको यह पता चल गया है कि क्रिप्टो को कैसे खरीदते हैं। लेकिन सिर्फ खरीदना ही अहम नहीं है। आपको यह भी पता होना चाहिए कि क्रिप्टो का भारत और पूरी दुनिया में क्या भविष्य है।

भारत और दुनिया में क्रिप्टोकरेंसी का भविष्य

ग्लोबल क्रिप्टोकरेंसी की दुनिया में भारत एक अहम प्लेयर के रूप में उभर रहा है। भारत के पास अंतराष्ट्रीय डिजिटल करेंसी मार्केट में १२.९ अरब डॉलर तक का योगदान देने की संभावना है।

Deutsche Bank की एक रिपोर्ट के मुताबिक २०३० तक भारत में कामकाजी लोगों की आबादी में तेजी आएगी।

इसका मतलब है कि क्रिप्टोकरेंसी के मुख्यधारा में आने के साथ-साथ देश के कामकाजी लोग तेजी से क्रिप्टोकरेंसी को अपनाएंगे।

इसके अलावा कुछ स्टडी यह भी कहती हैं कि आने वाले समय में कुछ देश भी क्रिप्टोकरेंसी को सपोर्ट देना शुरू कर सकते हैं।

क्रिप्टोकरेंसी का इस्तेमाल करने वाले रिटेल कंज्यूमरों की संख्या बढ़ने के साथ ही, ब्लॉकचेन वॉलेट की डाउनलोड संख्या में भी तेजी आएगी। इंटरनेट उपयोगकर्ताओं की संख्या बढ़ने से यह दर भी बढ़ सकती है।

अगर मौजूदा ट्रेंड आगे भी जारी रहता है, तो २०३० तक ब्लॉकचेन वॉलेट का इस्तेमाल करने वाले उपभोक्ताओं की संख्या बढ़कर २० करोड़ हो सकती है, जो २०३५ तक ३५ करोड़ पहुंच सकती है।

Forecast of Cryptocurrency and Internet Users, Source: Deutsche Bank

सिर्फ इतना ही नहीं, ब्लूमबर्ग की जून २०२० में जारी क्रिप्टो आउटलुक में कहा गया था कि आने वाले समय में Tether (USDT) जैसी स्टेबल क्वाइन की मार्केट वैल्यूएशन में भारी उछाल आ सकता है।

MoneyControl News

MoneyControl News

First Published: Sep 30, 2021 8:07 AM

हिंदी में शेयर बाजार, Stock Tips, न्यूज, पर्सनल फाइनेंस और बिजनेस से जुड़ी खबरें सबसे पहले मनीकंट्रोल हिंदी पर पढ़ें. डेली मार्केट अपडेट के लिए Moneycontrol App डाउनलोड करें।

अब मात्र 50 रुपये में खरीदें अपनी पहली क्रिप्टोकरेंसी वो भी एक क्लिक पर, यहां जानिए पूरी बात

भारत के सबसे बड़े क्रिप्टो एक्सचेंज वजीरएक्स (WazirX) ने एक टैप कर क्रिप्टो ट्रांजेक्शन करने के लिए ‘क्विकबाय’ (QuickBuy) लॉन्च किया है। जिससे नए निवेशकों को एक ही टैप पर 50 रुपये तक की कम से कम राशि के साथ पहली क्रिप्टो करेंसी खरीदने का मौका मिलेगा।

WazirX ने एक टैप कर क्रिप्टो ट्रांजेक्शन करने के लिए QuickBuy लॉन्च किया है।

WazirX ने एक टैप कर क्रिप्टो ट्रांजेक्शन करने के लिए QuickBuy लॉन्च किया है।

हाइलाइट्स

  • WazirX ने एक टैप कर क्रिप्टो ट्रांजेक्शन करने के लिए QuickBuy लॉन्च किया
  • निवेशकों को 50 रुपये तक राशि के साथ पहली क्रिप्टो करेंसी खरीदने का मौका मिलेगा
  • साथ ही इसका लक्ष्य सुरक्षित क्रिप्टो ट्रेडिंग परंपराओं पर अधिक जागरूकता पैदा करना है
  • वज़ीरएक्स का लक्ष्य 10 मिलियन यूजर्स को इसी तिमाही में अपने प्लेटफॉर्म पर लाना है

भारत में क्रिप्टो को सभी के लिए सुलभ बनाने के मिशन के साथ इस इनोवेटिव सुविधा का उद्देश्य नए क्रिप्टो निवेशकों की बढ़ती मांग को पूरा करना है। साथ ही इसका लक्ष्य सुरक्षित क्रिप्टो ट्रेडिंग परंपराओं पर अधिक जागरूकता पैदा करना है और फिनटेक के इस नए आयाम के साथ भारतीय जनता को भी परिचित करना है। भारत में क्रिप्टो को अपनाने की गति तेजी से बढ़ने के बावजूद लाखों लोग अब भी किनारे पर बैठे हैं। संभावित क्रिप्टो निवेशकों को क्रिप्टो में खरीदारी करना मुश्किल लगता है। सरलता और क्रिप्टोकरेंसी खरीदने में आसानी की कमी को इसके लिए दोषी ठहराया जा सकता है। क्विकबाय यूजर्स को अपने पहले क्रिप्टोकरेंसी को मूल रूप से जल्दी और बिना किसी छिपे शुल्क के खरीदने की अनुमति देता है।

एक करोड़ यूजर्स का लक्ष्य
क्विकबाय जैसी सुविधा समय की आवश्यकता है क्योंकि यह क्रिप्टो को अपनाने और जनता के बीच की खाई को पाट देगा। भारत में सबसे बड़े क्रिप्टो एक्सचेंज ने हाल ही में अपने यूजर्स को जनवरी 2021 और मार्च 2021 के बीच 1 मिलियन से 2 मिलियन तक दोगुना कर दिया है; अप्रैल 2021 में एक और मिलियन जोड़ लिए हैं। क्विकबाय के साथ वज़ीरएक्स का लक्ष्य अगले 10 मिलियन यूजर्स को इसी तिमाही में अपने प्लेटफॉर्म पर लाना है।

वज़ीरएक्स के संस्थापक और सीईओ निश्चल शेट्टी ने कहा, 'वज़ीरएक्स में हमारे ग्राहकों के प्रति सच्चे रहना और भारत के लिए क्रिप्टो तक पहुंच को सरल बनाना हमारी प्राथमिकता है। हमारा कम प्रसार और रुपए में उच्चतम तरलता के साथ ईजी-टू-यूज इंटरफेस मार्केट में अद्वितीय है। ये फेक्टर ठीक वही हैं, जो ग्राहकों के कदम खींच रहे हैं। फिर भी, हम अपने ग्राहक अनुभव को क्विकबाय फेसिलिटी के लॉन्च के साथ एक पायदान ऊपर ले जाना चाहते हैं। यह भारत में क्रिप्टो ट्रांजेक्शन को व्यवस्थित करेगा, जिससे लाखों लोग भाग ले सकेंगे।'

कर्मचारियों की संख्या होगी तीन गुना
वज़ीरएक्स भी भारत के उन बहुत कम संगठनों भारत में क्रिप्टो करेंसी खरीदें में से एक है जो जॉब मार्केट में कोविड-19 से आए ट्रेंड को पलटने में सक्षम हैं और इस साल के अंत तक अपने कर्मचारियों को तीन गुना करना चाहते हैं। प्लेटफॉर्म ने हाल ही में 2.4 मिलियन डॉलर के प्लेटफॉर्म के मासिक ट्रेडिंग वॉल्यूम के साथ 3 मिलियन उपयोगकर्ताओं को पार कर लिया है।

Crypto Currency: क्रिप्टो करेंसी क्या है, इसे कहां से खरीदें?

Crypto currency: आप अपनी मर्जी से किसी भी क्रिप्टो करेंसी में निवेश कर सकते हैं, मगर निवेश करने से पहले उस डिजिटल करेंसी की हिस्ट्री, मौजूदा कीमत और पिछले कुछ महीनों में आए उतार-चढ़ाव के बारे में आवश्यक जानकारी हासिल करें ताकि निवेश से पहले आप उससे जुड़े हर प्रकार के जोखिम को भली-भांति समझ सकें

crypto currency prices Bitcoin, Ethereum, Terra, XRP

Crypto Currency पर ज्यादा रिटर्न मिलने के कारण स्कैम भी बढ़ गए है, ऐसे में निवेशकों को थोड़ा सावधान रहने की जरूरत है

  • क्रिप्टो करेंसी नेटवर्क पर आधारित डिजिटल मुद्रा है, जिसका डिस्ट्रीब्यूशन कंप्यूटरों के एक विशाल नेटवर्क के माध्यम से किया जाता है.
  • कंप्यूटर नेटवर्क और ब्लॉकचेन पर आधारित यह विकेंद्रीकृत संरचना क्रिप्टो करेंसी को सरकारों और किसी भारत में क्रिप्टो करेंसी खरीदें भी वित्तीय नियंत्रण से बाहर रखती है.
  • क्रिप्टो करेंसी के बारे वित्तीय विशेषज्ञों का कहना है कि ब्लॉकचेन पर आधारित इस तकनीक के कारण दुनिया भर में फाइनेंशियल और कानूनी पेचीदगियां पैदा होंगी.
  • क्रिप्टो करेंसी का सबसे बड़ा लाभ यह है कि यह अन्य परंपरागत मुद्राओं के मुकाबले में बेहद सस्ता और तेज मनी ट्रांसफर है.
  • क्रिप्टो करेंसी का सिस्टम डिसेंट्रलाइज होने का सबसे बड़ा लाभ यह है कि किसी एक जगह से इस मुद्रा पर नेगेटिव असर नहीं होगा.
  • क्रिप्टो करेंसी की कुछ मुश्किलें भी हैं, जिनमें कीमत में होने वाला उतार-चढ़ाव, माइनिंग के लिए ऊर्जा की ज्यादा खपत और इसका आपराधिक गतिविधियों में इस्तेमाल है.

ब्लॉकचेन की इसी खूबी की वजह से क्रिप्टो करेंसी के लेन-देन के लिये एक भरोसेमंद थर्ड पार्टी जैसे-बैंक की आवश्यकता नहीं पड़ती है. इस तरह से देखें तो ब्लॉकचेन एक टेक्नोलॉजी है जिसका लाभ आने वाले समय में वित्तीय क्षेत्र में सबसे ज्यादा होगा. उम्मीद की जा रही है कि ब्लॉकचेन की मदद से आने वाले समय में लेन-देनों की लागत में भी कमी आएगी. इससे वित्तीय पारदर्शिता बढ़ेगी और फर्जी लेन-देन से भी छुटकारा मिलेगा.

क्रिप्टो करेंसी कितने प्रकार की होती है?
मौजूदा समय में क्रिप्टो करेंसी के बहुत सारे रूप हैं। यहां पर हम कुछ लोकप्रिय क्रिप्टो करेंसी की चर्चा कर रहे हैं. बिटकॉइन (Bitcoin) को दुनिया की सबसे पहली क्रिप्टो करेंसी माना जाता है. इसे सातोशी नाकामोतो ने 2009 में बनाया था. यह एक डि-सेंट्रलाइज़ करेंसी है, यानी कि इस पर किसी सरकार या संस्था का नियंत्रण नहीं है. कीमत में लगातार होने बढ़ोतरी की वजह से लोगों में इस मुद्रा के प्रति बहुत आकर्षण है.

इथेरियम (Ethereum) भी एक ओपन सोर्स, डी-सेंट्रलाइज्ड और ब्लॉकचेन पर आधारित डिजिटल करेंसी है. इसके संस्थापक का नाम है Vitalik Buterin. इसके क्रिप्टो करेंसी टोकन को ‘Ether’ भी कहा जाता है. बिटकॉइन के बाद ये दूसरी सबसे प्रसिद्ध क्रिप्टो करेंसी है.

लाइटकॉइन (Litecoin) भी एक डिसेंट्रलाइज तकनीक से उपजी डिजिटल मुद्रा है, जिसे एक ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर की मदद से तैयार किया गया है. इसके संस्थापक चार्ल्स ली (Charles Lee) हैं जो गूगल में काम कर चुके हैं. इसके बहुत सारे फीचर Bitcoin से मिलते-जुलते हैं.

डॉग कॉइन (Dogecoin) बनने की कहानी काफी रोचक है. बिटकॉइन का मजाक उड़ाने के लिए कुत्ते से उसकी तुलना की गई, जिसने आगे चलकर एक Cryptocurrency का रूप ले लिया. डॉग कॉइन के संस्थापक का नाम है बिली मार्कुस (Billy Markus). इन दिनों इस करेंसी की मार्केट वैल्यू बहुत अच्छी है.

टीथर (Tether) एक बड़ी और स्थिर मुद्रा है. यह क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करने के इच्छुक लोगों के लिए सबसे लोकप्रिय विकल्पों में से एक है.

क्रिप्टो करेंसी कैसे और कहां से खरीदें?
हमें उम्मीद है कि ईटी हिंदी के इस लेख से आपको क्रिप्टो करेंसी के बारे में बुनियादी जानकारी मिल गई होगी. अगर आप क्रिप्टो करेंसी में निवेश करना चाहते हैं तो एक डिजिटल करेंसी होने की वजह से आपको ऑनलाइन ही इसमें निवेश करना होगा. ऐसे बहुत सारे प्लेटफॉर्म हैं जहां पर जाकर आप क्रिप्टो करेंसी की मौजूदा कीमत का पता लगा सकते हैं और उसे खरीद या बेच सकते हैं.

कुछ प्रमुख क्रिप्टो करेंसी खरीदने बेचने वाली ऑनलाइन वेबसाइट के बारे में हम आगे बता रहे हैं. इन सभी वेबसाइट पर आप अपना अकाउंट बनाकर क्रिप्टो करेंसी खरीद या बेच सकते हैं. इनमें से कुछ ने अपना मोबाइल ऐप भी लॉंच कर रखा है, जिसे इंस्टॉल करके आप अपने मोबाइल से भी क्रिप्टो करेंसी में निवेश कर सकते हैं.

1. कॉइनस्विच (CoinSwitch)
2. वजीरएक्स (Wazirx)
3. यूनोकॉइन (Unocoin)
4. जेबपे (Zebpay)
5. कॉइनबॉक्स (Coinbox)
6. बीटीसीएक्सइंडिया (BTCxIndia)
7. लोकलबिटकॉइन (LocalBitcoin)

क्रिप्टो करेंसी (Cryptocurrency) खरीदने से पहले जरूरी एहतियात
ध्यान रखें अगर आप किसी ऐप के जरिये क्रिप्टो करेंसी में निवेश कर रहे है तो इस बात की पड़ताल अवश्य कर लें कि जिस ऐप में आप निवेश कर रहे है वह सुरक्षित है या नहीं. इसकी एक वजह यह है कि हैकर्स मिलते-जुलते नामों वाली बहुत से स्पैमिंग वाले ऐप भी बना देते हैं, जिनकी वजह से आपको नुकसान उठाना पड़ सकता है.

आप अपनी मर्जी से किसी भी क्रिप्टो करेंसी में निवेश कर सकते हैं, मगर निवेश करने से पहले उस डिजिटल करेंसी की हिस्ट्री, मौजूदा कीमत और पिछले कुछ महीनों में आए उतार-चढ़ाव के बारे में आवश्यक जानकारी हासिल करें ताकि निवेश से पहले आप उससे जुड़े हर प्रकार के जोखिम को भली-भांति समझ सकें.

क्रिप्टो करेंसी पर भारत सरकार की कोई स्पष्ट पॉलिसी नहीं है, ऐसी स्थिति में वित्तीय जोखिम आपको ही लेना होगा. इसलिए बेहतर होगा कि आप निवेश से पहले इसके जोखिम का मूल्यांकन कर लें और उसी के अनुसार निवेश करें.

क्रिप्टो करेंसी पर ज्यादा रिटर्न मिलने के कारण स्कैम भी बढ़ गए है, ऐसे में निवेशकों को थोड़ा सावधान रहने की जरूरत है. क्रिप्टो करेंसी और क्रिप्टो एक्सचेंज का भारत में क्रिप्टो करेंसी खरीदें संचालन कौन कर रहा है, इस बारे में भी जानकारी हासिल करें. सोशल मीडिया और ऑनलाइन ओपिनियन व रिव्यू के माध्यम से विश्वसनीयता परखी जा सकती है.

इस बात का ध्यान रखें कि अपने पोर्टफोलियो में क्रिप्टो करेंसी की हिस्सेदारी सीमित ही रखें. यह भी समझते और सीखते रहें कि किन फैक्टर का क्रिप्टो करेंसी की कीमतों पर असर पड़ता है.

रेटिंग: 4.60
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 420
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *