करेंसी मार्किट

ट्रेड करें

ट्रेड करें

डार्क क्लाउड कवर के साथ ट्रेड कैसे करें: कैंडलस्टिक पैटर्न

आइए विस्तार में चर्चा करते हैं कि डार्क क्लाउड कवर के साथ कैसे ट्रेड करें:

एक डार्क क्लाउड कवर क्या है?

इस पैटर्न में पिछले दिन की कैंडल के पार “डार्क क्लाउड” बनाने वाली एक लार्ज ब्लैक कैंडल शामिल है।

मार्केट एक्सपर्ट्स से कैंडलस्टिक ट्रेड करें विश्लेषण की मूल बातें सीखें

खरीदार शुरू में कीमत को अधिक बढ़ाते हैं, लेकिन फिर विक्रेता बाद के सत्र में कीमतों को नीचे ले जाते हैं।

यह खरीदने से बेचने तक के सिग्नल्स है जो आगामी डाउनसाइड में कीमत रिवर्सल का कारण बन सकते है।

ज्यादातर ट्रेडर्स डार्क क्लाउड कवर पैटर्न को तभी उपयोगी मानते हैं जब यह अपट्रेंड के अंत में होता है

जैसे ही कीमतें बढ़ती हैं, पैटर्न डाउनसाइड की ओर रिवर्सल होने के लिए और अधिक महत्वपूर्ण हो जाता है।

यदि मूल्य गति अस्थिर है, तो पैटर्न कम महत्वपूर्ण है क्योंकि इस पैटर्न के बाद मूल्यअस्थिर रहता है

डार्क क्लाउड कवर का गठन:

इस पैटर्न में बुलिश ट्रेंड के बाद लार्ज बेयरिश कैंडल शामिल है। यह बड़ी बेयरिश वाली कैंडल पिछले दिन की कैंडल के ऊपर डार्क क्लाउड बनाती है।

हम नीचे दी गई छवि से देख सकते हैं कि यह पैटर्न कैसे बनता है:

डार्क क्लाउड कवर

एक दिन के अंतराल के बाद, यह एक अपट्रेंड में बुलिश कैंडल के साथ शुरू होता है।

अगले दिन की कैंडलस्टिक एक बेयरिश कैंडल बन जाती है। इस बेयरिश कैंडल का समापन पिछले दिन की कैंडल के मध्य बिंदु के नीचे है।

इस कैंडलस्टिक पैटर्न में बुलिश और बेयरिश की कैंडलस्टिक्स में बहुत कम या बिना छाया वाले बड़े वास्तविक शरीर होते हैं।

इस पैटर्न के गठन की पुष्टि इस पैटर्न के अंत में एक बेयरिश कैंडलस्टिक के रूप में की जाती है।

इस पैटर्न का उपयोग कैसे करें ?

जब निवेशक डार्क क्लाउड कवर पैटर्न के साथ ट्रेड करते हैं तो कुछ विशेषताओं को देखना चाहिए:

  • सबसे पहले, ट्रेंड एक अपट्रेंड होना चाहिए, क्योंकि डार्क क्लाउड कवर पैटर्न एक बेयरिश रिवर्सल पैटर्न है।
  • दूसरी बात, कैंडलस्टिक की लंबाई बल को निर्धारित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है जिसके साथ रिवर्सल होगा।
  • तीसरी बात, बुलिश और बेयरिश कैंडलस्टिक्स के बीच का अंतर बताता है कि ट्रेंड रिवर्सल कितना शक्तिशाली होगा।
  • चौथा, बेयरिश कैंडलस्टिक को पिछले बुलिश कैंडलस्टिक के मध्य बिंदु से अधिक पर बंद करना चाहिए।
  • अंत में, बेयरिश के साथ ही बुलिश कैंडलस्टिक में बड़े बॉडीज होने चाहिए।

सन फार्मास्युटिकल इंडस्ट्रीज लिमिटेड के दैनिक चार्ट में पियर्सिंग पैटर्न का एक उदाहरण नीचे दिया गया है।

सन फार्मास्युटिकल पैटर्न

ट्रेडिंग में डार्क क्लाउड कवर का महत्व:

ट्रेडर्स को यह पैटर्न महत्वपूर्ण लगता है क्योंकि यह अपट्रेंड के डाउनट्रेंड में उलटफेर का संकेत देता है।

इस पैटर्न के लिए दैनिक चार्ट देखना चाहिए क्योंकि कम समय-सीमा वाले चार्ट में यह पैटर्न कम महत्वपूर्ण है।

एक और कारण है कि ट्रेडर्स इस पैटर्न के साथ ट्रेड करना पसंद करते हैं, यह पैटर्न प्रतिरोध(रेजिस्टेंस) स्तर के पास होता है।

इस कैंडल के निर्माण के दौरान यदि वॉल्यूम अधिक है, तो इसके रिवर्स होने की अधिक संभावना है।

इसके अलावा, अन्य टेक्निकल एनालिसिस के साथ इस पैटर्न द्वारा दिए गए संकेतों की पुष्टि करना न भूलें।

आप स्टॉकएज ऐप का उपयोग करके अगले दिन ट्रेडिंग के लिए स्टॉक को फ़िल्टर करने के लिए टेक्निकल स्कैन का उपयोग कर सकते हैं, जो अब वेब वर्शन में भी उपलब्ध है।

आप हमारे टेक्निकल एनालिसिस पाठ्यक्रमों के माध्यम से विभिन्न टेक्निकल तकनीकों और संकेतकों के बारे में भी जान सकते हैं।

Subscribe To Updates On Telegram Subscribe To Updates On Telegram Subscribe To Updates On Telegram

Should you Invest in the Rights Issue of Shares?

The Ultimate Guide to Trading using Average True Range

Elearnmarkets

Elearnmarkets (ELM) is a complete financial market portal where the market experts have taken the onus to spread financial education. ELM constantly experiments with new education methodologies and technologies to make financial education effective, affordable and accessible to all. You can connect with us on Twitter @elearnmarkets.

ट्रेड करें

Gum Hai Kisi Ke Pyar Mein 29 November Episode: स्कूल में जलील होंगे विनायक और सवि, भरी महफिल में होगा खूब तमाशा

December 2022 Grah gochar: दिसंबर में होंगे 6 ग्रह गोचर, 3 राशि वालों को होगा सबसे ज्‍यादा लाभ, मिलेगा अपार धन!

Jio Network Outage: जियो का नेटवर्क हुआ Down! Call न लगने पर परेशान हुए लोग, ट्विटर पर हुए गुस्से से लाल

India Vs New Zealand Weather Forecast: बिना मैच खेले ही हार जाएगी टीम इंडिया! जानें क्यों है भगवान भरोसे मुकाबला

Loneliness in Relationship: ट्रेड करें रिश्ते में महसूस करने लगे हैं अकेलापन? हो सकती हैं ये वजह, आज ही करें बात

AP Police Constable Recruitment 2022: सब इंस्पेक्टर और कॉन्स्टेबल के हजारों पदों पर वैकेंसी, यूं करें अप्लाई

Joram First Look: Manoj Bajpayee की फिल्म ‘Joram’ का फर्स्ट लुक आया सामने, एक्टर की आँखों में दिखा दर्द

Brahmaputra Market : नोएडा के इस मार्केट में उठा सकते हैं इन लजीज स्ट्रीट फूड्स का मजा, जरूर करें एक्सप्लोर

Petrol-Diesel Price Rajasthan: पेट्रोल-डीजल के नए दाम जारी, यहां SMS करके जाने आपके शहर में क्या है भाव

Jammu Kashmir: भाजपा किसी एक को निशाना नहीं बनाए, पूर्व मंत्रियों-विधायकों से सरकारी आवास खाली करवाए: साहनी

Gratuity and Pension Rule: केंद्रीय कर्मचारियों के बड़ी खबर, सरकार ने बदला जरूरी नियम, खत्म होगी पेंशन और ग्रेच्‍युटी!

जामनगर उत्तर में रिवाबा जाडेजा की मुश्किलें बढ़ीं, ननद नैना के बाद 'सर जाडेजा' के पिता ने कांग्रेस को दिया समर्थन

पावरफुल प्रोसेसर के साथ 1 दिसंबर को लॉन्च होगा Xiaomi 13. MIUI 14, Xiaomi Watch S2, Xiaomi Buds 4 से उठेगा पर्दा

Delhi Metro Blue Line: द्वारका सेक्टर 21 और नोएडा इलेक्ट्रॉनिक सिटी/वैशाली के बीच सेवा रही बाधित, यात्री रहे परेशान

ब्रोकिंग का डेली बिजनेस दोगुना: हर ट्रेड सिर्फ 20 रुपए में और OTT की तरह सब्सक्रिप्शन जैसे ऑफर से ट्रेडिंग हुई सिंपल

शेयर बाजार में निवेश और ट्रेडिंग का जरिया रही ब्रोकरेज इंडस्ट्री नए मोड में आ गई है। निवेशकों और ट्रेडर्स की बढ़ती संख्या और ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंच बढ़ाने के लिए उसने नया मॉडल अपना लिया है। ये मॉडल ना सिर्फ निवेशकों को सहूलियत देता है बल्कि उनके लिए निवेश का हिसाब-किताब रखना आसान भी बनाता है।

दरअसल, अब ब्रोकिंग हाउसेज किसी इन्वेस्टमेंट या ट्रेड पर तय पर्सेंटेज में ब्रोकिंग फीस लेने के बजाय फ्लैट ब्रोकरेज और सब्सिक्रिप्शन मॉडल पर जा रहे हैं। फ्लैट ब्रोकरेज का मतलब ये है कि आप जब किसी ब्रोकरेज हाउस या कंपनी निवेश या ट्रेडिंग के लिए पहले से तय ब्रोकिंग फीस लेती है। भले ही आप कितना बड़ा या छोटा, निवेश या ट्रेड करें। मसलन, कोटक आपके हर ऑर्डर पर 20 रुपए चार्ज कर रही है।

अब बात करते हैं सब्सिक्रिप्शन बेस्ड मॉडल की। इसमें हर महीने या साल के लिए आप सब्सक्रिप्शन लेकर तय नियमों के मुताबिक निवेश या ट्रेड कर सकते हैं। ये बिलकुल वैसा ही है जैसा आज कल OTT प्लेटफॉर्म एप्लीकेशंस का सब्सक्रिप्शन लेते हैं।

बढ़ रहा है मार्केट शेयर

डिस्काउंट, फ्लैट ब्रोकरेज और सब्सक्रिप्शन बेस्ड मॉडल जैसे नए तरीकों से ब्रोकरेजेज को पहुंच बढ़ाने में मदद मिलेगी। पिछले एक साल में मार्केट शेयर में तेज उछाल इस बात को साफ भी करती है। पिछले एक साल में टॉप 2 ब्रोकरेज हाउसों का मार्केट शेयर 17% से बढ़कर 30% हो गया है। इसमें जिरोधा और अपस्टॉक्स हैं। दोनों की बात करें तो ये फ्लैट ब्रोकरेज प्लान देते हैं।

2 गुना बढ़ा टर्नओवर
इंडस्ट्री के ओवरऑल मार्केट की बात करें तो रोजाना का टर्नओवर 2 गुना बढ़ा है। यह दिसंबर 2020 तक 14.4 लाख करोड़ रुपए से बढ़ कर 31.1 लाख करोड़ रुपए हो गया था। इसी तरह से ग्राहकों को जोड़ने की संख्या में सालाना आधार पर 67% की बढ़त हुई है। यह 1.63 करोड़ हो गया है। इसमें नए ग्राहकों में ज्यादातर ग्राहक दूसरे लेवल और उसके नीचे के शहरों के हैं।

कम ब्याज, म्यूचुअल फंड के खराब प्रदर्शन से इक्विटी में आ रहे हैं नए निवेशक
इसके बढ़ने के पीछे जो कारण हैं उसमें नए निवेशकों, म्यूचुअल फंड की स्कीम्स का खराब प्रदर्शन और फिक्स्ड इनकम असेट्स पर कम ब्याज है। डिस्काउंट देने वाले ब्रोकरेज लगातार अपनी हिस्सेदारी बढ़ा रहे हैं। जबकि परंपरागत पुराने ब्रोकरेज हाउस अपनी हिस्सेदारी गंवा रहे हैं। हालांकि वे भी अब फिक्स्ड ब्रोकरेज प्लान शुरू कर चुके हैं। इसमें कोटक सिक्योरिटीज, एक्सिस सिक्योरिटीज ने कम ब्रोकरेज प्लान को पेश किया है। जबकि गैर बैंकिंग ब्रोकरेज हाउस जैसे एंजल ब्रोकिंग और शेयर खान ने भी ऐसा ही ऑफर किया है।

फीस आधारित मॉडल की ओर इंडस्ट्री
भारतीय ब्रोकिंग इंडस्ट्री अब फीस आधारित मॉडल की ओर जा रही है। एडवाइजरी सेवाओं के अलावा अब फंड आधारित गतिविधियां जैसे मार्जिन फंडिंग और शेयरों के एवज में लोन दिए जाने का काम चल रहा है। ब्रोकिंग इंडस्ट्री फिक्स्ड चार्ज की बजाय सेवाएं देने के एवज में पैसे लेने की ओर जा रही है। चूंकि फाइनेंशियल सेविंग बढ़ रही है और ब्याज दरें कम हैं, इसलिए इक्विटी एक असेट क्लास के रूप में लगातार निवेशकों की पसंदीदा बना हुआ है। ऐसे में डिस्काउंट देने वाले ब्रोकर लगातार अपनी हिस्सेदारी बढ़ाते रहेंगे।

4 लिस्टेड ब्रोकरेज हाउस हैं
शेयर बाजार में लिस्टेड ब्रोकिंग हाउसों में मोतीलाल ओसवाल, आईआईएफएल सिक्योरिटीज, जियोजीत और 5 पैसा है। आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज ने इसमें से जियोजीत को छोड़कर सभी के शेयरों को खरीदने की सलाह दी है। इसमें मोतीलाल ओसवाल का शुद्ध फायदा 1,099 करोड़ रुपए रहा है तो आईआईएफल का 195 करोड़ रुपए रहा है। जियोजीत का फायदा 118 करोड़ और 5 पैसा का फायदा 15 करोड़ रुपए रहा है।

1.63 करोड़ हैं एक्टिव ग्राहक
जनवरी 2021 तक एक्टिव ग्राहकों की संख्या 1.63 करोड़ रही है। मार्च 2020 में यह 1.01 करोड़ थी। सितंबर 2020 में यह 1.34 करोड़ थी। सबसे ज्यादा ग्राहक सितंबर की ही तिमाही में आए हैं। उस तिमाही में कुल 21.9 लाख ग्राहक जुड़े थे। दिसंबर 2020 में कुल 19.3 लाख ग्राहक ब्रोकिंग हाउस से जुड़े थे। इसका सबसे ज्यादा लाभ डिस्काउंट वाले ब्रोकिंग हाउस को मिला है। इसमें जिरोधा, अपस्टॉक्स, 5 पैसा और एंजल ब्रोकिंग रहे हैं।

जिरोधा की हिस्सेदारी बढ़ कर 19% हुई
जिरोधा की बाजार हिस्सेदारी 1 साल में जनवरी 2021 तक 13 से बढ़ कर 19% हो गई है। आरकेएसवी (अपस्टॉक्स) की हिस्सेदारी 5 से बढ़कर 11.3% हो गई है। इसका कारण यह है कि इनके ऐप काफी यूजर फ्रेंडली हैं और ये डिजिटलाइजेशन पर फोकस करते हैं। इसलिए नए ग्राहक इनके पास आ रहे हैं।

एक्टिव क्लाइंट में जिरोधा एक नंबर पर
एक्टिव क्लाइंट के आधार पर देखें तो जिरोधा के पास 31.4 लाख ग्राहक हैं। आरकेएसवी के पास 18.5 लाख ग्राहक हैं। एंजल ब्रोकिंग के पास 13.2 लाख ग्राहक, एचडीएफसी सिक्योरिटीज के पास 9.2 लाख, 5 पैसा कैपिटल के पास 8.2 लाख, कोटक सिक्योरिटीज के पास 7 लाख, शेयर खान के पास 6.6 लाख, मोतीलाल ओसवाल के पास 5 लाख ग्राहक हैं। अन्य के पास 64.6 लाख ग्राहक हैं।

एंजल ब्रोकिंग ने जब से डिस्काउंट शुरू किया है, पिछली 3-4 तिमाहियों में उसके ग्राहकों की संख्या बढ़ी है। दिसंबर 2019 में इसके ग्राहकों की संख्या 4.9 लाख थी जो जनवरी 2021 में 8.1 लाख हो गई।

डेली टर्नओवर भी बढ़ा
इंडस्ट्री के एवरेज डेली टर्नओवर की बात करें तो यह मार्च 2020 में केवल 11.8 लाख करोड़ रुपए था। फरवरी 2021 में यह बढ़ कर 45.9 लाख करोड़ रुपए हो गया है। भारत के शेयर बाजार के पेंनेट्रेशन (जागरुकता) की बात करें तो यह देश की कुल आबादी का केवल 1-2% ही है। जबकि विकसित देशों में यह आंकड़ा 20% है। इसका मतलब भारतीय शेयर बाजार में ग्रोथ की अपार संभावनाएं हैं।

टेक्नोलॉजी का बेहतर उपयोग
नए ब्रोकरों के आने और टेक्नोलॉजी के उपयोग से ग्राहक भी आ रहे हैं। मोबाइल फोन के ट्रेडिंग ऐप ने इसे और आसान बना दिया है। BSE और NSE के आंकड़े बताते हैं कि दूसरे लेवल और उसके आगे के शहरों में शेयर बाजार का कारोबार जोर पकड़ रहा है। वित्त वर्ष 2018 में इन शहरों का टर्नओवर BSE में 30% हुआ करता था। 2020 में यह 40% हो गया है। NSE में यह इसी समय में 14 से बढ़ कर 17% हो गया है। नए ग्राहकों में 25 से 35 साल की उम्र जिनकी है, वो ज्यादा आ रहे हैं।

ज्यादातर ग्राहक छोटे शहरों से आ रहे हैं
आंकड़े बताते हैं कि अपस्टॉक्स के ग्राहकों में 80% ग्राहक, 5 पैसा के ग्राहकों में 88% और एंजल ब्रोकिंग के ग्राहकों में 50% ग्राहक छोटे शहरों से आते हैं। यही कारण है कि परंपरागत ब्रोकरेज हाउस इसी डिस्काउंट में आ रहे हैं। कोटक ने नवंबर में इंट्रा डे के कारोबार के लिए जीरो पैसा और अन्य एफएंडओ ट्रेड्स के लिए 20 रुपए प्रति ऑर्डर की प्लान लांच किया था।

शेयरखान ने तो ग्राहकों को ट्रेड ट्रेड करें में अगर कोई नुकसान होता है तो इसे फ्री कर दिया है। कोई चार्ज नहीं लेगा। बाकी के लिए इसने 20 रुपए प्रति ऑर्डर का ऑफर किया है। एंजल भी 20 रुपए प्रति ऑर्डर का ऑफर किया है।

iPhone 13 करें प्री-ऑर्डर और पाएं छूट, ट्रेड-इन से पाएं 46 हजार तक का डिस्काउंट, जानें तरीका

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। iPhone 13 को लॉन्च हुए एक हफ्ता हो चुका है. पिछले ही हफ्ते कंपनी ने इसके प्री-ऑर्डर लेने शुरू कर दिए थे और अब कल, यानी 24 सितंबर से iPhone 13 के सभी वेरीएन्ट्स की सेल भी शुरू हो जाएगी. प्री-ऑर्डर्स पर वैसे तो तमाम रीटेलर्स कई सारे कैशबैक ऑफर्स दे रहे हैं लेकिन एप्पल जो ऑफर दे रहा है वो इन सभी ऑफर्स से बेहतर है. अगर आप एप्पल की आधिकारिक वेबसाइट या स्टोर से iPhone 13 का कोई भी वेरीएन्ट खरीदते हैं तो आपको 'एप्पल ट्रेड-इन' के जरिए 46 हजार तक की छूट मिल सकती है. आइए इस कमाल के ऑफर के बारे में पूरी जानकारी लेते हैं..

इस तरह पाएं iPhone 13 की खरीद पर भारी छूट

iPhone 13 पर अच्छी-खासी छूट पाने के लिए सबसे पहले अपने मनपसंद iPhone 13 के मॉडल को एप्पल के स्टोर या आधिकारिक वेबसाइट से ऑर्डर करें. फोन को बुक करते समय एप्पल के ऑफर, 'एप्पल ट्रेड-इन' को सिलेक्ट करें और इस तरह आप अपने पुराने फोन के बदले नये मॉडल को खरीद सकते हैं और भारी छूट भी पा सकते हैं.

'एप्पल ट्रेड-इन' की प्रक्रिया

एप्पल पर जब आप अपने नये iPhone 13 को बुक करने जा रहे हों तो एप्पल ट्रेड-इन के ऑप्शन पर जाएं. वहां कंपनी आपसे आपके स्मार्टफोन के बारे में कुछ सवाल पूछेगी जिनके आपको उत्तर देने होंगे. आपके जवाबों के आधार पर एप्पल आपको एक अंदाजे से एक ट्रेड-इन वैल्यू बताएगा और पर्चेज के समय इन्स्टेन्ट क्रेडिट के तौर पर उस वैल्यू को लागू कर देगा.

जैसे ही आपका ऑर्डर प्लेस हो जाएगा कोरीयर आपको एक निश्चित डेट और समय देगा जब एक व्यक्ति आपके घर पर आपको नया फोन दे देगा और पुराना फोन ले जाएगा.

आपको क्या करना होगा

ऑर्डर के बाद कंपनी यह मानकर चलती है कि आप अपने पुराने स्मार्टफोन को ट्रेड-इन के लिए तैयार रखेंगे. इस तैयारी में एप्पल उम्मीद करता है कि यूजर अपना डाटा बैक-अप करके ट्रेड करें रखे, जहां वह है वहां अच्छा इंटरनेट कनेक्शन हो और एप्पल आइडी और पासवर्ड भी तैयार हो. डेलीवेरी के दिन आपके पुराने स्मार्टफोन के कुछ टेस्ट किए जाएंगे और यह देखा जाएगा कि वह ठीक से चलता है या नहीं. इसके बाद ही, ट्रेड-इन की प्रक्रिया पूरी होगी और यूजर को अपना नया स्मार्टफोन दिया जाएगा.

अगर आपका स्मार्टफोन वैसा नहीं निकला जैसी उम्मीद की जा रही थी..

अगर ऐसा होता है कि आपका फोन ठीक से काम नहीं कर रहा है या शुरू में पूछे गए सवालों के आपके जवाबों से आओके फोन की कन्डिशन मैच नहीं कर रही है, तो घबराने की बात नहीं है. ऐसे में, आपको नया iPhone मिलेगा लेकिन आपके पुराने स्मार्टफोन की कीमत को दोबारा असेस किया जाएगा और फिर उस हिसाब से छूट दी जाएगी. पिछले डिस्काउंट और अब के डिस्काउंट के बीच का जो भी अंतर होगा आपको वह भी देना होगा.

डिस्काउंट की वैल्यू

इस ट्रेड-इन में छूट उस बात पर निर्भर करती है कि आप कौन से स्मार्टफोन के बदले में नया iPhone 13 खरीदने जा रहे हैं. एंड्रॉयड डिवाइसेज की ट्रेड-इन वैल्यू की सूची अलग है और iPhones की ट्रेड-इन वैल्यू की सूची अलग जारी की गई है. अगर आपके स्मार्टफोन एक एंड्रॉयड पर चलने वाला स्मार्टफोन है तो आपको करीब 10 हजार रुपये तक की छूट मिल सकती है और अगर आप एक iPhone के बदले में नया iPhone लेते हैं तो 46 हजार रुपये तक का डिस्काउंट मिल सकता है.

आपकों बता दें कि आप चाहें तो और भी कई सारे प्लेटफॉर्म्स से iPhone 13 के अपने पसंदीदा वेरीएन्ट को प्री-ऑर्डर कर सकते हैं. जैसे ही सेल शुरू होंगी, या तो आपको आपके नजदीकी सेलर का पता दे दिया जाएगा या फिर आपको डोरस्टेप डेलीवेरी का भी ऑप्शन मिल सकता है.

रेटिंग: 4.80
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 433
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *