Header Ads
Entertainment News

परवीन बॉबी को टाइम कवर पर देख पागल हो गया यह विदेशी, देश छोड़कर बॉलीवुड में बनाई जगह

हिंदी फिल्मों में एक्ट्रेस की नई परिभाषा गढ़ने वाली परवीन बॉबी को उनके काम के लिए आज भी याद किया जाता है. वह टाइम मैगजीन के कवर पेज पर आने वाली पहली भारतीय हस्ती बनीं। उन दिनों हर कोई इसका दीवाना था। और जब 1976 में टाइम मैगजीन के कवर पर उनकी तस्वीर छपी तो विदेशों में लोग उनके दीवाने हो गए। ऐसे ही एक विदेशी थे बॉब क्रिस्टो। बॉब ऑस्ट्रेलिया में इंजीनियर थे और जब उन्होंने उस समय के कवर पर परवीन बॉबी की ग्लैमरस तस्वीर देखी तो उन्हें इससे प्यार हो गया।

बॉब उनसे मिलना चाहता था और फिर उसने भारत आने का फैसला किया। उन्होंने इंजीनियरिंग की नौकरी छोड़ दी और फ्लाइट से भारत आ गए। एक कैमरामैन की मदद से वह परवीन बॉबी से मिलने भी गए। लेकिन जब उन्होंने परवीन बाबी को देखा तो उन्हें पहचान नहीं पाई।

दरअसल परवीन बॉबी ने सिर्फ शूटिंग के दौरान ही मेकअप किया था, बाकी समय वह एक आम लड़की की तरह बिना मेकअप के ही रहीं। जब बॉब ने परवीन बाबी को देखा और उन्होंने उसे परवीन बाबी मानने से इनकार कर दिया। टाइम मैगजीन पर अपनी तस्वीर दिखाते हुए उन्होंने कहा कि तुम परवीन ही नहीं, यह लड़की भी परवीन हो। तब परवीन ने उन्हें समझाया कि वह शूटिंग के दौरान सिर्फ मेकअप करती हैं तो बॉब ने उन्हें परवीन बॉबी माना।

बॉब क्रिस्टो फिर से ऑस्ट्रेलिया नहीं गए और केवल हिंदी फिल्मों में विदेशी खलनायक की भूमिका निभाने लगे। उन्होंने पहली बार 1980 की फिल्म अब्दुल्ला में अभिनय किया। उन्होंने अमिताभ बच्चन की कई सुपरहिट फिल्मों में तस्कर, खलनायक आदि की भूमिका निभाई। अमिताभ बच्चन की गिरफ्तारी, कालिया, अदालत, मर्ड जैसी सुपरहिट फिल्मों में बॉब ने शानदार काम किया।

बॉब ने हिंदी के अलावा तमिल, तेलुगु, मलयालम, कन्नड़, पंजाबी आदि भाषा की फिल्मों में भी काम किया। बॉब को दिल की समस्या थी और इसलिए उनकी मृत्यु हो गई। 2011 में, 72 वर्ष की आयु में, बॉब को दिल का दौरा पड़ा जिससे उनकी मृत्यु हो गई।



.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button