Header Ads
Business

RBI ने ब्याज दरों में नहीं किया बदलाव, रेपो रेट 4% पर अपरिवर्तित

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) की मौद्रिक नीति समिति (MPC) की तीन दिवसीय समीक्षा समाप्त हो गई है। शुक्रवार सुबह आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने मौद्रिक नीति की समीक्षा दी। मौद्रिक नीति की घोषणा के मुताबिक रिजर्व बैंक ने नीतिगत दरों में कोई बदलाव नहीं किया है। वर्चुअल रिव्यू के दौरान आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि मॉनिटर पॉलिसी ने सर्वसम्मति से ब्याज दरों में बदलाव नहीं करने का फैसला किया है।

रेपो रेट को 4%, रिवर्स रेपो रेट को 3.5% और बैंक रेट को 25.4.25% पर बनाए रखा गया है। अन्य दरों में कोई बदलाव नहीं किया गया है। इसका शाब्दिक अर्थ है कि लोगों की ऋण ईएमआई प्रभावित नहीं होगी और वही रहेगी। आपको बता दें कि रिजर्व बैंक ने पहली बार पांच बार ब्याज दरों में बदलाव नहीं किया है।

आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि बढ़ती महंगाई को देखते हुए रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समिति ने नीतिगत दर में बदलाव नहीं करने का फैसला किया है। आरबीआई गवर्नर दास ने कहा कि कोड के प्रभाव को हटाए जाने तक केवल रूढ़िवादी प्रथाओं को बनाए रखा जाएगा।

आरबीआई गवर्नर ने कहा कि वित्त वर्ष २०११ के लिए वास्तविक जीडीपी -7.3% होगी। रिजर्व बैंक ने चालू वित्त वर्ष 2021-22 के लिए विकास दर का अनुमान घटा दिया है। आरबीआई के मुताबिक चालू वित्त वर्ष में विकास दर 9.5 फीसदी रहेगी। इससे पहले रिजर्व बैंक ने 10.50% का अनुमान लगाया था।

इस बीच, गवर्नर दास ने कहा कि बैंकों को 15,000 करोड़ रुपये प्रदान किए जाएंगे। इसके माध्यम से बैंक होटल, निजी बसों, टूर ऑपरेटरों, रेस्तरां, सैलून, विमानन संबंधित सेवा संचालकों आदि को सस्ते ऋण उपलब्ध करा सकेंगे।

भारतीय रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) की तीन दिवसीय बैठक बुधवार से शुरू हो गई। मौद्रिक नीति समीक्षा बैठकें हर दो महीने में आयोजित की जाती हैं। अप्रैल में एमपीसी की पिछली बैठक में आरबीआई ने प्रमुख ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया था।

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button