Header Ads
Business

कोर्ट ने एसबीआई को मालिया की संपत्ति और शेयर बेचकर 5,646 करोड़ रुपये वसूलने का आदेश दिया

नवीन व दिल्लीअदालत के आदेश के बाद, भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) की अध्यक्षता में बैंकों का एक संघ बंद हो चुकी एयरलाइन किंगफिशर से जुड़े खराब ऋणों की वसूली के लिए भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या की अचल संपत्ति और प्रतिभूतियों को बेच सकता है।

11 बैंकों पर कर्ज है

एसबीआई के नेतृत्व में 11 बैंकों के एक संघ ने वित्त मंत्रालय को पैसा उधार दिया था।समूह ने प्रवर्तन निदेशालय द्वारा जब्त की गई संपत्ति की वापसी की मांग की थी। मुंबई में एक विशेष पीएमएलए अदालत ने मंगलवार को बैंकों को 5,646.54 करोड़ रुपये की संपत्ति वापस करने की अनुमति दी।

बैंक ने जब्त की संपत्ति

एसबीपी के एक अधिकारी के मुताबिक, कानूनी कार्रवाई करने के बाद कर्जदाता आदेश में बताई गई संपत्तियों को अपने कब्जे में ले लेंगे। इसमें कहा गया है कि बैंकों में बहाली की प्रक्रिया वित्तीय संपत्तियों के प्रतिभूतिकरण और पुनर्गठन और सुरक्षा ब्याज अधिनियम (सरफासी), 2002 के प्रवर्तन द्वारा निर्देशित की गई है। निर्देशानुसार उचित समय पर इन संपत्तियों की नीलामी या बिक्री की जाएगी।

SBI पर है सबसे बड़ा कर्ज

किंगफिशर एयरलाइंस को दिए गए 6,900 करोड़ रुपये के मूल ऋण में से एसबीपी ने अधिकतम 1,600 करोड़ रुपये दिए हैं। इसके अलावा, अन्य बैंक जिन्होंने एयरलाइन को कर्ज दिया है, उनमें पंजाब नेशनल बैंक (800 करोड़ रुपये), आईडीबीआई बैंक (800 करोड़ रुपये), बैंक ऑफ इंडिया (650 करोड़ रुपये), बैंक ऑफ बड़ौदा (550 करोड़ रुपये) शामिल हैं। करोड़), सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया (410 करोड़)

9000 धोखाधड़ी के आरोप

मालिया पर करीब 9,000 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी और मनी लॉन्ड्रिंग का आरोप लगाया गया है। बंद पड़ी किंगफिशर एयरलाइंस इस मामले में शामिल है। किंगफिशर एयरलाइंस के पूर्व व्यवसायी 65 वर्षीय विजय मालिया अप्रैल 2019 में गिरफ्तारी के बाद से ब्रिटेन में जमानत पर बाहर हैं।

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button